Skip to content

Metaverse Kya Hai Puri Jaankari Hindi [मेटावर्स (मेटेवर्स) क्या है पूरी जानकारी]

  • by

Metaverse Kya Hai Puri Jaankari Hindi (मेटावर्स (मेटैवर्स) क्या है पूरी जानकारी) मेटावर्स शब्द कहां से आया

आपको जानकर आश्चर्य होगा की Metaverse शब्द का प्रयोग आज से 30 साल पहले ही अमेरिकी लेखक नील स्टीफेंसन (Neal stephenson) जो एक साइंस फिक्शन उपन्यासकार हैं, के द्वारा लिखे गए साइंस फिक्शन पर एक बेहद लोकप्रिय उपन्यास ‘स्नो क्रैश’ में पहली बार ‘मेटावर्स’ शब्द का प्रयोग किया गया था। और इस उपन्यास को 1992 में प्रकाशित किया गया था। जो आज भी मौजूद है।

Metaverse Kya Hai Puri Jaankari Hindi

Metaverse Kya Hai Puri Jaankari in Hindi

जिसे आज भी लोग Metaverse और साइंस फिक्शन के बारे में जानने के लिए इस नोवेल को पढ़ना बहुत पसंद करते है। तथा इस नोवेल में उन्होंने यह बताया है कि वास्तविकता की दुनिया के लोग अपने 3D अवतार के माध्यम से कैसे आभासी दुनिया में प्रवेश करेंगे, और एक दूसरे के साथ संपर्क कर सकेंगे।

मेटावर्स क्या है (What is the metaverse)

यह आभासी वास्तविकता, संवर्धित वास्तविकता (Virtual Reality, Augmented Reality) और वीडियो सहित प्रौद्योगिकी के कई तत्वों का एक संयोजन है जहां उपयोगकर्ता एक डिजिटल ब्रह्मांड के भीतर “रहते हैं”। मेटावर्स के समर्थक अपने उपयोगकर्ताओं को संगीत समारोहों और सम्मेलनों से लेकर दुनिया भर की आभासी यात्राओं तक हर चीज के माध्यम से काम करने, खेलने और दोस्तों के साथ जुड़े रहने की कल्पना करते हैं।

“अभी, हम अगले इंटरनेट के शिखर पर हैं,” अपनी वेबसाइट पर फरवरी 2021 के निबंध में वेंचर कैपिटल फर्म एपिलियन इंडस्ट्रीज के मैनेजिंग पार्टनर मैथ्यू बॉल ने कहा।

मेटावर्स शब्द कहां से आया (Metaverse Word)

लेखक नील स्टीफेंसन को उनके 1992 के विज्ञान कथा उपन्यास “स्नो क्रैश” में “मेटावर्स” शब्द को गढ़ने का श्रेय दिया जाता है, जिसमें उन्होंने यथार्थवादी 3 डी इमारतों और अन्य आभासी वास्तविकता वातावरण में मिले आजीवन अवतारों की कल्पना की थी।

तब से, विभिन्न विकासों ने वास्तविक मेटावर्स की ओर मीलपोस्ट बना दिया है, एक ऑनलाइन आभासी दुनिया जिसमें संवर्धित वास्तविकता, आभासी वास्तविकता, 3 डी होलोग्राफिक अवतार, वीडियो और संचार के अन्य साधन शामिल हैं। जैसे-जैसे मेटावर्स का विस्तार होता है, यह आपके लिए सह-अस्तित्व के लिए एक अति-वास्तविक वैकल्पिक दुनिया की पेशकश करेगा।

Fortnite, Minecraft, और Roblox जैसे ऑनलाइन गेम ब्रह्मांडों में मेटावर्स की छाप पहले से मौजूद है। और उन खेलों के पीछे की कंपनियों में मेटावर्स के विकास का हिस्सा बनने की महत्वाकांक्षा है।

मेटावर्स कैसा दिखेगा (Metaverse Look)

मेटावर्स एक 3D टेक्नोलॉजी पर आधारित प्लेटफार्म होगा जिसमें आज के लोग अपना एक 3D अवतार बना पाएंगे जो बिल्कुल उनके जैसा ही प्रतीत होगा और इस 3D टेक्नोलॉजी से बनाये गए अवतार की मदद से आप दूसरे लोगों से वर्चुअली कनेक्ट हो सकेंगे।

जब मेटावर्स का उपयोग लोगो की आम जिंदगी में होने लगेगा तब ऐसा लगेगा जैसे यह सोशल प्लेटफॉर्म नहीं बल्कि एक असली दुनिया है जिसमें हम लोगों से एक दूसरे से मिलते जुलते हैं। इसका रूप वर्चुअल होगा लेकिन यह ऐसा प्रतीत होगा मानो हम असली दुनिया में उनके साथ है।

हम इसे कब देखने की उम्मीद कर सकते हैं (When can we expect to see it)

फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग का अनुमान है कि मेटावर्स की प्रमुख विशेषताएं मुख्यधारा बनने में पांच से 10 साल लग सकते हैं। लेकिन वर्तमान में मेटावर्स के पहलू मौजूद हैं। अल्ट्रा-फास्ट ब्रॉडबैंड स्पीड, वर्चुअल रियलिटी हेडसेट और लगातार ऑनलाइन दुनिया पहले से ही चल रही है, भले ही वे सभी के लिए सुलभ न हों।

मेटावर्स लाभ (Metaverse Benefit)

Metaverse के हमारे जीवन मे आने से बहुत सारे फाईदे मिलेंगे जो निम्न प्रकार से हो सकते है –

  • Corona महामारी के दौरान कई लोगो को अपनें काम से हाथ दोना पड़ा था, लेकिन मेटावर्स टेक्नोलॉजी के आने बाद ये समस्या नहीं होगी क्योकि मेटावर्स टेक्नोलॉजी work-from-home के लिए पूरी तरह से नया बदलाव हो सकता है। आज लोग वीडियो कॉल और मीटिंग के माध्यम से कार्य करते है, लेकिन वर्चुअल दुनिया में लोग एक साथ कार्य कर पाएंगे।
  • Metaverse के माध्यम से हम बिना सफर किये हुए हमारे रिस्तेदारों और दोस्तों के साथ Virtuali गेट टुगएडर कर सकेंगे।
  • Metaverse की सहायता से Travel करते समय accident से होने वाले नुकसान से बच पाएंगे।
  • Metaverse की मदद से आप बिना किसी Travel के Meatings , Games खेलना ओर भी कई सारे काम कर पाएंगे।
  • Metaverse टेक्नोलॉजी के आने से टाइम और रुपयों की सबसे ज्यादा बचत होगी।
  • Metaverse एक तरह की Internet का Update Versions है जिसके माध्यम से हम एक दूसरे से दूर होकर भी कई सारे काम कर सकेंगे।

मेटावर्स नुकसान (Metaverse Side Effects)

किसी भी प्रकार की टेक्नोलॉजी के आने से इंसानो को होने वाले फायदों के साथ-साथ कई तरह के नुकसान भी होते है। Metaverse से हमारे जीवन मे होने वाले नुकसान –

मेटावर्स भले ही लोगों को एक ऐसी दुनिया का अनुभव करा पायेगा जो असली दुनिया की तरह दिखेगी। मगर लोग अपने दिन का ज्यादा से ज्यादा समय इस पर लगा सकते हैं।

मेटावर्स के आने से लोग वर्चुअली दुनिया में खोकर रह जायेंगे। और हकीकत की दुनिया से दूर हो जायेंगे।

मेटावर्स के कुछ उदाहरण (Metaverse Example)

मेटावर्स हाल ही में बातचीत का एक चर्चित विषय रहा है। हर कोई फेसबुक और माइक्रोसॉफ्ट सहित मेटावर्स का मालिक होना चाहता है। और इसके साथ ही फेसबुक और माइक्रोसॉफ्ट दोनों ने Metaverse पर दावा किया है। लेकिन मेटावर्स क्या है? और यह कब आएगा?

मेटा (Meta)। पूर्व में फेसबुक के रूप में जानी जाने वाली टेक दिग्गज ने पहले से ही आभासी वास्तविकता में महत्वपूर्ण निवेश किया है, जिसमें 2014 में ओकुलस का अधिग्रहण भी शामिल है। मेटा एक आभासी दुनिया की कल्पना करता है जहां डिजिटल अवतार वीआर हेडसेट का उपयोग करके काम, यात्रा या मनोरंजन के माध्यम से जुड़ते हैं। जुकरबर्ग मेटावर्स पर बुलिश रहे हैं, यह विश्वास करते हुए कि यह इंटरनेट की जगह ले सकता है जैसा कि हम जानते हैं। कंपनी की रीब्रांडिंग का खुलासा करने के बाद पिछले महीने मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने कहा, “अगला प्लेटफॉर्म और माध्यम और भी अधिक इमर्सिव और सन्निहित इंटरनेट होगा, जहां आप अनुभव में हैं, न कि केवल इसे देख रहे हैं, और हम इसे मेटावर्स कहते हैं।

माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft)। सॉफ्टवेयर की दिग्गज कंपनी पहले से ही होलोग्राम का उपयोग करती है और अपने माइक्रोसॉफ्ट मेश प्लेटफॉर्म के साथ मिश्रित और विस्तारित वास्तविकता (एक्सआर) अनुप्रयोगों को विकसित कर रही है, जो वास्तविक दुनिया को संवर्धित वास्तविकता और आभासी वास्तविकता के साथ जोड़ती है। इस महीने की शुरुआत में, Microsoft ने 2022 में Microsoft टीमों के लिए होलोग्राम और वर्चुअल अवतार सहित मिश्रित-वास्तविकता लाने की अपनी योजनाओं को दिखाया। इसके अलावा अगले वर्ष के लिए काम: खुदरा और कार्यस्थलों के लिए अन्वेषण योग्य 3D वर्चुअल कनेक्टेड स्पेस। यू.एस. सेना वर्तमान में Microsoft के साथ संवर्धित वास्तविकता होलोलेंस 2 हेडसेट पर काम कर रही है ताकि सैनिकों को प्रशिक्षण, पूर्वाभ्यास और लड़ाई के लिए प्रशिक्षित किया जा सके। इसके अलावा, Xbox Live पहले से ही दुनिया भर में लाखों वीडियो गेम खिलाड़ियों को भी जोड़ता है।

माइनक्राफ्ट (Minecraft)। बच्चों द्वारा पसंद किया जाने वाला एक आभासी ब्रह्मांड के रूप में है। माइक्रोसॉफ्ट के स्वामित्व वाला माइनक्राफ्ट अनिवार्य रूप से लेगोस का डिजिटल साथी है, जहां खिलाड़ी अपना डिजिटली चरित्र बना सकते हैं और भी कई प्रकार के डिजिटल चलचित्र बना सकते हैं। Minecraft में अगस्त तक,140 मिलियन से अधिक सक्रिय उपयोगकर्ता हैं।

कोरोना महामारी के दौरान, यह सभी बच्चों के बीच इसकी लोकप्रियता में विस्फोट हुआ है, जिन्हें आभासी कनेक्शन पर अधिक निर्भर रहना पड़ता था। कुछ कम प्रसिद्ध कंपनियों ने अपनी ऑनलाइन दुनिया शुरू की है। 2003 में स्थापित ऑनलाइन fantasy की दुनिया सेकंड लाइफ, एक वैकल्पिक वास्तविकता के रूप में अपने दूसरे दशक में है।

सेंसोरियम गैलेक्सी (Sensorium Galaxy) ने इस साल की शुरुआत में वीआर हेडसेट्स या डेस्कटॉप कंप्यूटर के साथ तलाशने के लिए विभिन्न कनेक्टेड ऑनलाइन “वर्ल्ड्स” की अपनी योजनाबद्ध तरीके से सुरुवात की गयी।

रोबोक्स (Roblox)। Roblox प्लेटफ़ॉर्म, 2004 में स्थापित किया गया था, जिसमें ब्लॉक्सबर्ग और ब्रुकहेवन जैसे रोल-प्लेइंग प्रसाद सहित उपयोगकर्ता-जनित गेम के स्कोर हैं, जहां उपयोगकर्ता घर बना सकते हैं, काम कर सकते हैं और परिदृश्य खेल सकते हैं। इस साल सार्वजनिक होने के बाद अब Roblox का मूल्य $45 बिलियन से अधिक है। मार्च में अपने आईपीओ के दिन, रोबोक्स के संस्थापक और सीईओ डेविड बसज़ुकी ने उन सभी लोगों को धन्यवाद दिया, जिन्होंने मंच को “#Metaverse के हमारे दृष्टिकोण को पूरा करने के एक कदम करीब” लाने में मदद की। तब से, रोबॉक्स ने वैन वर्ल्ड बनाने के लिए स्केटबोर्डिंग शू कंपनी वैन के साथ मिलकर एक वर्चुअल स्केटबोर्डिंग पार्क बनाया है, जहां खिलाड़ी ताजा वैन गियर में तैयार हो सकते हैं और एक सीमित गुच्ची गार्डन खोला है, जहां आप अपने आभासी स्व के लिए कपड़े और सामान खरीदने की कोशिश कर सकते हैं।

क्या है फेसबुक का नया नाम (What is the New Name of Facebook)

फेसबुक का नाम अभी बदला नहीं गया है, लेकिन जल्दी ही हमें फेसबुक एक नए नाम के साथ देखने को मिल सकता है। मार्क जुकरबर्ग ने सभी यूजर्स को बताया है कि फेसबुक का नाम बदलकर मेटा रखा जायेगा, जोकि मेटावर्स शब्द से लिया गया है। और इसी कार्य को करने के लिए मार्क जुकरबर्ग अपनी टीम के साथ जोर शोर लगे हुए हैं। लेकिन अभी कुछ साल लग सकते हैं। इसलिए फेसबुक का नाम पूरी तरह से कब बदला जाएगा, इस बारे में अभी तक कोई भी ऑफिशियल जानकारी नहीं है।

क्रिप्टोकरेन्सी में मेटावर्स पर आधारित ब्लॉकचैन प्रोजेक्ट (Blockchain Project Based on Metaverse in Cryptocurrency)

Blockchain our Cryptocurrency की दुनिया में Metaverse कोई नया शब्द नहीं है, और काफी सारे Blockchain Project है जो Metaverse पर काम कर रहे है। जैसे Sandbox (SAND), Decentraland (MANA), Axie Infinity (AXS), Enjin Coin, Star Atlas (ATLAS). Cryptocurrency ओर blockchain पर काम करने वाले लोग इनका इस्तेमाल कर भी रहे है।

निष्कर्ष  (Conclusion)

हमें उम्मीद है की इस लेख में दी गयी जानकारी आपको पसंद आयी होगी। हम आशा करते है की आप लोगों को Metaverse kya hai? Metaverse kese kaam karta hai इन सब के बारे मे पूरी जानकारी मिल गयी होगी । Cryptocurrency, Crypto Market, Blockchain, NFT कि दुनिया के बारे मे और ज्यादा जानने के लिए हमारी वेबसाइट cryptosite.in को बुकमार्क या Notification को allow करे। जिससे हमारे नए articles सबसे पहले आपको मिल सके। धन्यवाद !

सामान्य प्रश्न (FAQ)

Q : क्या मेटावर्स वास्तविक है  (Is metaverse real)

Ans : मेटावर्स एक आभासी वास्तविकता है जिसमें व्यक्ति एक दूसरे के साथ और डिजिटल 3डी वस्तुओं के साथ संचार और लेनदेन कर सकते हैं।

Q : मेटावर्स क्रिप्टो क्या है (What is Metaverse Crypto)

Ans : क्रिप्टो मेटावर्स एक आभासी वातावरण है जो एक Immersive अनुभव प्रदान करने के लिए ब्लॉकचेन तकनीक और क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करता है।

Q : क्या फेसबुक का नाम बदला जा चुका है (has facebook been renamed )

Ans : फेसबुक का नया नाम मेटा रखा जाना है, लेकिन अभी तक इसका officially रजिस्टर्ड नही हुआ है।

Q : क्या मेटावर्स के माध्यम से हम गेट टूगेदर कर सकेंगे?

Ans : हाँ, कर सकते है।

Q : क्या मेटावर्स 3D टेक्नोलॉजी की तरह काम करेगा?

Ans : हाँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.